On Page SEO क्या हैं – On Page SEO कैसे करे

On Page SEO क्या हैं
ONLINE Earnings के Secret TIPS जानने के लिए आज ही हमें Telegram पे JOIN करें   (Click Here to Join) Link सिर्फ Telegram में ही Open करें और अगर आपके पास Telegram App नहीं है तो पहले उसे Playstore से Download करें। अगर Link काम नहीं करे तो आप Telegram पे Search कर सकते है skadvice और Join करें आज ही।

अगर आप Blogging और Digital Marketing के क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते हो तो आपको Organic Traffic प्राप्त करने का तरीका समझना होगा। Blogging से अधिक पैसे कमाने के लिए आपको Organic या फिर कहे तो Natural Traffic की जरूरत होती हैं। Organic Traffic प्राप्त करने के लिए Search Engines से आये हुए Traffic को सबसे बेहतर माना जाता हैं। Search Engine से Traffic प्राप्त करने के लिए आपको On-Page SEO के बारे में समझना होगा। आज हम आपको ‘On Page SEO क्या हैं‘ और ‘On Page SEO कैसे करे‘ के बारे में बताएंगे।

यह भी पढ़े : Blogging Kya Hai? 2020 में Blogging कैसे करे

Blog Kaise Likhe? Perfact Blog Post कैसे लिखते है

अगर आपको Blogging से अच्छा पैसा कमाना है तो आपको अधिक से अधिक Traffic की जरूरत होगी। वैसे तो आप Social Media और अन्य तरीको से भी अच्छा Traffic प्राप्त कर सकते हो लेकिन Search Engines की मदद से आपको Organic Traffic प्राप्त होता हैं। Organic Traffic से जितनी कमाई होती है उतनी किसी अन्य Traffic से नही होती। Organic Traffic में Targeted Readers होते हैं जिनसे अधिक Benefit होता है।

Search Engine से Traffic प्राप्त करना नही होता। Search Engines अपने Users को Best Result देने की कोशिश करते हैं। वह Users को वही Articles और Web Pages दिखाते है जिससे Users को Satisfication हो सके। यानी की अगर Users आपके Page को पसन्द करेंगे तो Search Engines भी करेंगे। यानी की सबसे पहले तो आपकी Quality Content Create करना होगा। लेकिन Search Engines को आपके Blog के बारे में बताने के लिए आपको SEO (Search Engine Optimization) की जरूरत होती हैं।

SEO क्या होता हैं?

Search Engine Optimization एक प्रोसेस होती हैं जिसके जरिये Search Engine में आपका Blog रैंक होता हैं। Search Engines में Articles और Web Pages Rank कराने के लिए Blog को Search Engine के अनुसार ढालना होता हैं। SEO के 2 भाग होते हैं जिसमे से पहला Off Page SEO होता हैं और दूसरा On Page SEO होता हैं। Off Page SEO में Backlinks बनाने का काम सबसे महत्वपूर्ण हैं लेकिन On Page SEO में आपको काफी बातों का ध्यान रखना पड़ता हैं। यानी की On Page SEO अधिक महत्वपूर्ण हैं।

SEO के बारे में अधिक गहराई से समझने के लिए यह आर्टिकल पढ़े : SEO क्या होता हैं? Blog को रैंक कराने के लिए SEO कैसे करे?

On Page SEO क्या होता हैं? (On Page SEO Kya Hai)

On Page SEO क्या हैं
On Page SEO क्या हैं

On Page SEO को On Site Search Engine Optimization भी कहा जाता हैं। On Page SEO का मतलब हमारे Web Page या फिर कहे तो Blog Article को Search Engines के अनुसार Optimize करना होता हैं। On Page SEO में आपको सारा काम आपकी Site के या फिर जिस Page को आप Rank कराना चाहते हो उसी में करना होता हैं जैसे की Website की Speed तेज करना, Keywords Add करना, Meta Description और URLs वगैरह।

On Page SEO का उद्देश्य Website और Web Pages को कुछ इस तरह से Set करना होता है की Search Engines आपकी Website पर मौजूद Content को समझ पाए। इससे आपकी Website ज्यादा जल्दी Rank होती है और आपको Search Engines से अच्छा Traffic मिलने लगता हैं। On-Page SEO में काफी सारे Factores होते है और वह सभी आपके द्वारा ही Set किये जाते हैं। यानी की On Page SEO का तात्पर्य Internal SEO से हैं जबकी Off Page SEO का मतलब External SEO होता हैं।

Search Engine Experts का भी यही मानना हैं की अगर आप On Page SEO पर ध्यान नही दोगे तो Off Page SEO भी आपको किसी तरह का कोई Profit नही दे सकेगा। वैसे तो सबसे महत्वपूर्ण चीज Content Quality होती है लेकिन On Page SEO भी काफी जरूरी हैं। Wikipedia जैसी Websites भी On Page SEO को Follow करने की सलाह देती हैं। अब आप On Page SEO के बारे में तो समझ ही गए होंगे। लेकिन यह भी जानना जरूरी है की Blog जो रैंक कराने के लिए On Page SEO कैसे करे! आइये जानते हैं।

On Page SEO कैसे करे?

Off Page SEO की बात की जाए तो उसमे External काम ज्यादा हैं जैसे की Social Media Sharing और Backlinks बनाना वगैरह। Off Page SEO का उद्देश्य Website की Authority को बढ़ाना होता हैं। अगर देखा जाए तो Backlinks बनाने का काम सबसे महत्वपूर्ण है और अधिकतर Bloggers भी केवल इसी पर ध्यान देते हैं। लेकिन On Page SEO में काफी सारे फेक्टर्स है जिनका आपको ध्यान रखना पड़ता हैं। इन सभी के बारे में हमने आपको नीचे Detail में बताया हैं:

Title Optmization : जितना महत्वपूर्ण आपका Article होता है उतना ही महत्वपूर्ण आपका Title भी होता हैं। Title एक तरह से आपके Article का सार होता हैं। आपको अपने Article के Title में यह बताना होता हैं की इस Article में आपको क्या-क्या मिलने वाला हैं। जैसे की अभी आप On-Page SEO पर लिखा हुआ हमारा यह Article पढ़ रहे हो तो इसका Title भी On-Page SEO पर ही आधारित हैं।

आपका Title ऐसा होना चाहिए जो लोगो को आकर्षित करे। SEO के अनुसार देखा जाए तो आपके Meta Title में Keywords भी होने चाहिए। लेकिन Title में केवल Keywords ही न भरे। क्योंकि ऐसा करने से आपका Article Search Engines के द्वारा Spam समझा जा सकता हैं।

Meta Description : Meta Description आपके आर्टिकल का सार होता हैं। आपने कई बार Google पर Search Result के नीचे थोड़ा से Description देखा होगा। इसे Meta Description कहते है। इसमे आप कम से कम शब्दो में यह बताने की कोशिश करे की आपके Article में क्या-क्या कवर किया गया हैं। काफी सारे लोग Meta Description में जमकर Keywords भर देते है और इस वजह से Article Spam समझ लिया जाता हैं।

Meta Description में आप 2-3 Keywords लिख सकते हो लेकिन उसके साथ आपको Keywords को अपनी पंक्तियों के बीच में Set करना होता हैं। इससे Readers भी प्रभावित होते है और आपका Article Open करके देखते हैं।

Headings : अगर आप अपने पूरे Article को एक साथ उतार देंगे तो ना तो Readers उसे समझ पाएंगे और न ही Search Engine Bots! इसलिए Headings जरूरी होती हैं। आप अपने Article को कुछ भागो में बाट सकते हो जैसे की निबन्ध को बाटा जाता हैं। इससे आपके Readers को भी समझने में आसानी होती हैं।

आपकी Headings सामान्य अक्षरों से बड़ी होनी चाहिये। इसके लिए H1, H2 और H3 Headings का Use कर सकते हो। Headings में आपको आपके Keywords भी Add करने होते हैं।

Image Optimization : SEO के लिए आपके Article में Images जरूर होनी चाहिए। भले ही आपका Article किसी भी तरह का हो लेकिन उसमे एक न एक Image तो होनी ही चाहिये। लेकिन Image को सामान्य तरीके से Add कर देना SEO के लिए अच्छा नही होता।

सबसे पहले आपको Image की Size को कम करना होता है जिससे की वह आसानी से Add हो जाये। इसके बाद आपको Image के Alt Tag में अपना Keyword Add करना होता हैं।

Sitemap : Sitemaps के बारे में काफी सारे लोग अनजान हैं। Sitemap का Use इसलिए किया जाता हैं ताकि आपके Article और आपकी Website को Search Engines आसानी से Crawl कर सके। Sitemap कई तरह के होते है जैसे की sitemap.xml और sitemap.html ! Sitemap बनाने के लिए आपको काफी सारे Freetool भी मिल जाएंगे।

Internal Linking : भले ही आपकी Website किसी भी तरह की हो लेकिन उसमे Internal Linking जरूर होनी चाहिए। Internal Linking का मतलब आपके एक Article या फिर एक Webpage में आपकी ही Site पर मौजूद दूसरे Content की Link add करना होता हैं। इससे उस दूसरे Article पर भी Traffic बढ़ता हैं। कोशिश कीजिये की वही Link Article में Add करे जो आपके Article से जुड़ा हो। Internal Linking से Domain Authority भी बढ़ती है।

ULR Optimization : On Page SEO के सबसे महत्वपूर्ण Factors में से एक URL Optimization भी हैं। URL Optimization रैंकिंग के लिए काफी जरूरी होता हैं। आपके Webpage या Blog के URL में आप आपका Keyword Use कर सकते हो। इससे Ranking में आसानी रहती हैं। इसके अलावा URL ज्यादा बड़ी भी नही होनी चाहिए।

Mobile Friendly Article : अपने Blog पर हमेशा उसी Theme या Template का Use करे जो URL Friendly हो। क्योंकि आज के सम्मये में अधिकतर लोग Internet का उपयोग Mobile से ही करते हैं। इसके अलावा Search Engine भी उसी आर्टिकल को पहले Show करते है जो हर तरह के Device में आसानी से Open किया जा सके।

Loading Speed : आपके Blog की Loading Speed आपकी Search Engine Ranking के लिए काफी मायने रखती हैं। आपका Blog जितने कम समय में Open होगा उतना ही लोग उसे पसन्द करेंगे। अगर कोई व्यक्ति Search Engine से आपके Article पर क्लिक करता है लेकिन आपका Article खुलने में अधिक समय लेता है तो इससे वह व्यक्ति अप्पक Article को Leave कर देता है। यह आपकी Ranking को प्रभावित करता हैं।

आज के इस लेख में हमने On Page SEO के बारे में जाना। आज हमने आपको बताया की ‘On Page SEO क्या हैं और On Page SEO कैसे करे‘? अगर आप अब भी इससे जुड़ा हुआ कोई प्रश्न पूछना चाहते हो तो निश्चिन्त होकर Comment कर सकते हो। इसके अलावा ऐसी अन्य रोचक जानकारियों के लिए हमारे Free Newsletter को Subscribe करना ना भूले।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *